शिविर समीक्षा

आनापान

   आनापान सति एक
   पाली शब्द है, जिसका अर्थ:

   आन = अन्दर आने वाली सांस,

   अपान = बाहर जाने वाली सांस,

   सति = सजगता;

   अर्थात आने वाली और जाने वाली
   सांस के प्रति
   जागरूकता |

 

 

 

 

 

 

 

ध्यान विधि

पूरी कोशिश रहे कि हर एक आने वाली और जाने वाली सांस की जानकारी बनी रहे |

फायदे

इस साधना से पूरा लाभ पाने के लिए दिन में दो बार १० से १५ मिनिट ( सुबह और शाम ) ध्यान करना आवश्यक है |

शील : ५ नियम

शील का अर्थ है, शरीर और वाणी के स्तर पर सभी निकम्मी बातों से विरत रहेंगे, जैसे

मैत्री भावना

मैत्री भावना का अर्थ है करूण चित्त से पुण्य वितरण

पुराने साधक

अनुवाद

 English
Česky
Español
Français
한국어
Polski
Português
Pусский

अधिक जानकारी के लिए

कृपया देखें www.dhamma.org/hi/index