लोग क्या कहते हैं

“मैंने मन को एकाग्र और शांत रखना सीखा |”
children

यूरोप से अतिरिक्त प्रतिक्रियाएं
“मैंने मन को वश में करना और जीवन में शांत रहना सीखा |”
children

ऑस्ट्रेलिया से अतिरिक्त प्रतिक्रियाएं
“अगर आपका मन शांत और वश में हो तो आप कभी अपना आपा नहीं खोयेंगे और हमेशा सही निर्णय ले सकेंगे |”
children

नेपाल और भारत से अतिरिक्त प्रतिक्रियाएं
“मैं जब भी अपनी माँ से परेशान होता हूँ तो आनापान करता हूँ, उससे मुझे फायदा होता है |”
children

उत्तरी अमरीका से अतिरिक्त प्रतिक्रियाएं
“पहले मैं हमेशा गुस्से में होता था और मेरा मन परेशान रहता था | अब मैं गुस्सा नहीं करता | मैं हलका महसूस करता हूँ और खुश रहता हूँ |”
children

एशिया से अतिरिक्त प्रतिक्रियाएं
“मैं ध्यान करना पसंद करता हूँ, क्योंकि मुझे आराम मिलता है |”
children

आफ्रीका से अतिरिक्त प्रतिक्रियाएं

यूरोप से बच्चों की अतिरिक्त प्रतिक्रियाएं





जब आप परेशान होते हैं और आप शांति चाहते हैं तो इससे आपको मदद मिलती है |
– इंग्लैंड से एक १० साल का बालक


मुझे लगता है कि इससे मुझे सचमुच फायदा होता है, क्योंकि अब मैं अपने भाई से झगडा नहीं करती |
– इंग्लैंड से एक ११ साल की बालिका, जिसने कई शिविर किये हैं


अब मेरी जिंदगी में बहुत शांति है और मेरे माता पिता भी कहते हैं कि मेरे दृष्टिकोण में बदलाव आया है |
– एक ११ साल का बालक जिसने ३ शिविर किये हैं


कभी कभी जब लोग बहुत चंचल होते हैं, मैं खीज जाता हूँ, पर अब मैं उन्हें नजरअंदाज करने की कोशिश करता हूँ | कभी कर पता हूँ कभी नहीं |
- इंग्लैंड से एक ११ साल का बालक


ध्यान एक ऐसा अभ्यास है जो आपको अपने अंदरूनी व्यक्तिमत्व से मिलाता है | मेरा ऐसा अनुभव है कि जब मैं ध्यान करता हूँ, मेरा मन वश में रहता है | यह शिविर मुझे बहुत पसंद आया – कमरे, खेल, ध्यान – सभी कुछ |
– इंग्लैंड से एक ८ साल का बालिका
 

तस्वीरें इंग्लैंड, स्पेन और जर्मनी के विपश्यना केन्द्रों से

वापस ऊपर जायें

ऑस्ट्रेलिया से बच्चों की अतिरिक्त प्रतिक्रियाएं







ध्यान करने में बहुत आनंद आता है और जीवन जीने की यह उत्तम कला सीखने
योग्य है |
- जैक, उम्र १२ साल


इससे सचमुच बहुत मदद मिलती है |
- सेलिना, उम्र १० साल


यह सभी के लिए उत्तम ही होगा |
- यश, उम्र ९ साल


यह शिविर करने से बहुत हलका महसूस होता है और इससे मन की एकाग्रता
बढ़ती है |
- एडवर्ड, उम्र ९ साल


मैं वहां गयी थी और यह उत्तम है |
- सरीना, उम्र ९ साल


मैं यह शिविर दोबारा करना चाहती हूं |
- अलाश्या, उम्र ११ साल


यह काफी अच्छा है
- नेथन, उम्र ९ साल


मैंने, विचलित न होना और पाठशाला के पहले और बाद में ध्यान करना सीखा | नाक से सांस लेने की इस प्रक्रिया में, बिना मुंह का उपयोग किये, मुझे बहुत आनंद आया | यह शिविर बहुत सारी चीजे सीखने के लिए एक उत्तम अनुभव है |
- गरिमा, उम्र ९ साल


अगर आपको नींद नहीं आती हो तो इससे फायदा होगा |
- अम्बर, उम्र १२ साल

तस्वीरें: पुराने विपश्यना केंद्र, सनशाइन कोस्ट और माउन्ट कीअरा कैंप, वोलोंगोंग

वापस ऊपर जायें

भारत और नेपाल से बच्चों की अतिरिक्त प्रतिक्रियाएं







उत्तम अनुभव, शांति, सजगता और आत्मविश्वास प्राप्त हुआ |
- राहुल लाखी


मैंने अपना मन एकाग्र करना सीखा और अपनी बेचैनी से भी मुक्त हुआ |
- माहित चौहान


श्वसन क्रिया निश्चित रूप से एक महत्वपूर्ण तत्व है, जो मन को एकाग्र करने में मदद करती है | मुझे आशा है कि इसके अच्छे परिणाम मिलेंगे (शांति, स्मृति, आत्मविश्वास आदि)
- सुबोधिनी डी. लाखी


आनापान बहुत रोचक और आनंददायक था | और कभी कभी उबाऊ भी | मुझे सचमुच लगता है कि इससे हम स्मरणशक्ति बढा सकते हैं | मुझे शिविर में बहुत मजा आया |
- कुशल कल्पेश शहा


इससे हमें पाठशाला में एक नए दिन की शुरुवात शांत मन से करने में मदद
मिलेगी |
- अक्षय चौधरी (कक्षा छटवीं)


एक बार परीक्षा में मुझे एक ‘रिक्त स्थान भरो’, नहीं याद आ रहा था, तो मैंने दो तीन मिनट ध्यान किया और मुझे याद आ गया | इससे हमारी स्मरणशक्ति तो अच्छी होती ही है अपितु हम कक्षा में सचेत रहना भी सीखते हैं |
- तसलीम बानू (कक्षा छटवीं)
 

तस्वीरें:धम्म सिन्धु विपश्यना गुजरात और भारत में इतरत्र

वापस ऊपर जायें

उत्तर अमेरिका से बच्चों की अतिरिक्त प्रतिक्रियाएं





मेरा मन एक विडियो के समान है – विचारों की श्रंखला चलती ही रहती है | ध्यान साधन जैसे पॉज बटन है |
- ऑस्टिन, उम्र ११


मैं शिविर में आती हूं क्योंकि ध्यान करने से जिंदगी में सचमुच मदद मिल सकती है और इसमें मजा भी आता है | इससे गुस्से पर काबू पाने और अधिकतर सभी चीजों में मदद मिल सकती है | जब मै गुस्सा होती हूँ, तो मेरा व्यवहार काबू में रखने में मदद मिलती है, और इस बात में भी मदद मिलती है कि मैं किसी का दिल न दुखाऊँ या फिर कोई गलत कदम न उठाऊँ |
- सोफ़िया उम्र ९ साल, ३ शिविर में सहभाग लिया है और आनापान साधना घर पर करती है


जब मैं अपनी माँ से परेशान होती हूँ, मै आनापान करती हूँ, और इससे मुझे मदद मिलती है | कभी कभी ध्यान के समय मेरा मन बहुत चंचल रहता है, पर कभी कभी ध्यान करने से बहुत शांति भी मिलती है |
- जिवी, उम्र ९ साल


कैलिफ़ोर्निया से तस्वीरें

वापस ऊपर जायें

एशिया से बच्चों की अतिरिक्त प्रतिक्रियाएं





मैं शांत रहने के लिए साधना का अभ्यास करूंगा – घर में, पाठशाला में इत्यादि, परीक्षा से पहले, जब भी परेशान होता हूँ या फिर डर जाता हूँ तब |
- एक बालक जकार्ता से, जून २०१०


मुझे यहाँ का आनंदमय वातावरण अच्छा लगता है और भोजन स्वादिष्ट है | मुझे खेल अच्छे लगते हैं | आचार्य मित्रवत व्यवहार करते हैं |
- एक बालक जकार्ता से, नवम्बर २००८


अब मुझे अपनी जिन्दगी में एक प्रकाश की किरण दिखाई देती है |
- एक छात्र क्यी म्यिन दाईन अंध विद्यालय, यांगों, म्यांमार


हॉन्ग कॉन्ग, मलेशिया और म्यांमार से तस्वीरें

वापस ऊपर जायें

अफ्रीका से बच्चों की अतिरिक्त प्रतिक्रियाएं


पाठशाला में जब भी मुझे शिक्षक जो पढ़ा रहे हैं उसे एकाग्रता से ग्रहण करना हो तब मैं आनापान का उपयोग करता हूँ | और अगर मैं नाराज या गुस्से में हूँ तब भी मैं आनापान की मदद ले सकता हूँ |

मुझे एहसास हुआ कि मुझे ध्यान पसंद है क्योंकि इससे मुझे सुकून मिलता है |
 

आफ्रिका और इथिओपिया से तस्वीरें

वापस ऊपर जायें

बच्चे

Translations

English
Español
Français
한국어
Polski
Português
Pусский

More information

Please visit www.dhamma.org/hi/index